गुनाहगारों के हमले के मामले में गोलियों की कमी से बचने के लिए, गतिविद्धता संगठन का कहना है कि सप्ताहांत के दौरान G20 सम्मलेन के दौरान शहर के होटलों में विशेष 'आर्मरी' स्थापित की गई है।

इन आर्मरियों में बुलेट्स के साथ-साथ लोडेड मैगज़ीन, चिकित्सा सामग्री, चौंकाने और धुआं ग्रेनेड्स, वायरलेस सेट चार्जर, सुरक्षित तरीके से इस्तेमाल किए जाने वाले व्यक्तिगत हथियार भी होंगे।

26/11 के दौरान गोलियों की कमी और खराब गोली बड़ी समस्या थी। 'मुंबई के आतंकवादी हमले' के बाद दिए गए कई सुझावों को G20 सम्मलेन को सुरक्षित बनाने के लिए शामिल किया गया है।

सुरक्षा एजेंसियों ने होटलों की छतों पर ड्रोनों को नीचे लाने के लिए एंटी-ड्रोन मेकेनिज़्म भी स्थापित किया है, जिससे वहाँ के फूंक रहे ड्रोन को गिराया जा सके।